EID UL ADHA HINDI WISHES 2017

EID UL ADHA HINDI WISHES 2017



EID UL ADHA HINDI WISHES 2017

Eid ul Adha Wishing Wallpapers

Eid ul Adha Hindi Wishes

1. “ऐ ईद तुम जब भी आना सब के लिए बस खुशियां लाना हर चेहरे पर हँसी सजाना हर आँगन में फूल खिलाना ।

ईद मुबारक!”

 

2. “पानी की बूँदें फूलों को भिगा रही हैं, ठंडी हवायें एक ताज़गी का एहसास दिला रही हैं, हो जाएं आप भी इनमे शामिल आकर एक प्यारी सी ईद सुबह आपको जगा रही है ।

ईद मुबारक!”

 

3. “खुशियों के इस पवित्र मसर्रत मौके पर बहुत-बहुत ईद मुबारक दिल की गहरायिओं से निकली हुई इस दुआ के साथ खुदा आपकी और आपके सब चाहने वालों की ज़िन्दगी को खुशियों, रहमतों और कामयाबी से भर दे हर गम, दुःख और दर्द को आप सबसे दूर-बहुत दूर कर दे!”

 

4. “जिस दिन आपने अपनी ज़िन्दगी को खुल कर जी लिया, वही दिन आपका है। बाकी सब तो सिर्फ कैलेंडर की तारीखें हैं ।

ईद मुबारक़!”

 

5. “ख़ुशी से दिल को आबाद करना ग़म को दिल से आज़ाद करना बस इतनी गुज़ारिश है, आपसे कि हो सके तो कभी हमें भी याद जरुर करना ।

ईद मुबारक़!”

 

6. “चुपके से चाँद की रौशनी छू जाये आपको धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से हम दुआ करते हैं वो मिल जाये आपको ।

ईद मुबारक़!”

 

7. “गर्लफ्रेंड: तुम मेरे लिए क्या कर सकते हो?

पठान: क्या करना है बताओ?

गर्लफ्रेंड: चाँद तोड़कर ला सकते हो?

पठान: फिर ईद क्या तेरे बाप के टकले को देखकर मनायेंगे?”

 

8. “जैसे रात आती है, सितारे लेकर और नींद आती है, सपने लेकर करते हैं, दुआ हम कि आपकी हर सुबह आये बहुत सारी खुशियाँ लेकर ।

ईद मुबारक़!”

 

9. “क्या मांगू मैं खुदा से तेरे वास्ते सदा ख़ुशियाँ ही रहे, तेरे रास्ते हँसी तेरे चेहरे पे रहे इस तरह खुश्बू फूलों का साथ निभाती है जिस तरह ।

ईद मुबारक़!”

 

10. “आपकी ज़िंदगी में कभी गम ना हो आपकी आँखें कभी आंसुओं से नम ना हो मिले आपको ज़िंदगी में सारी खुशियाँ भले ही उस ख़ुशी में हम ना हो ।

ईद मुबारक़!”

 

11. “ईद की सच्ची ख़ुशी तो अपनों की दीद है, तुम हमसे दूर हो, तो अपनी क्या ईद है?

ईद मुबारक़!”

 

12. “रहे सलामत ज़िंदगी उनकी, जो मेरी ख़ुशी की फरियाद करते हैं, ऐ खुदा उनकी ज़िंदगी खुशियों से भर दे जो मुझे याद करने के लिए अपना एक पल बर्बाद करते हैं ।

ईद मुबारक़!”

 

13. “मीठे बोल बोलिए क्योंकि अल्फाजों में जान होती है, इन्हीं से अजान होती है, ये दिल के समंदर के वो मोती हैं, जिनसे इंसान की पहचान होती है ।

ईद मुबारक़!”

 

14. “सुबह-सुबह आपको एक पैगाम देना है, आपको सुबह का पहला सलाम देना है, गुज़रे सारा दिन आपका ख़ुशी में आपकी सुबह को खूबसूरत सा नाम देना है ।

ईद मुबारक़!”

 

15. “मेरे सबसे अच्छे दोस्तों के लिए खास अपनी आँखें बंद करके मेरी हंसी के बारे में सोचो क्या आपने इसे किया? मुबारक हो आप ने पाँच दिन पहले ही ईद का चाँद देख लिया!”

 

16. “आग़ाज़ ईद है, अंजाम ईद है, सच्चाई पे चलो तो हर ग़म ईद है, जिसने भी रखे रोज़े उन सब के लिए अल्लाह की तरफ से इनाम ईद है ।

ईद मुबारक़!”

 

17. “हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे रब तेरे ग़म को तेरी ख़ुशी कर दे जब भी टूटने लगें तेरी साँसें खुदा तुझमे शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे ।

ईद मुबारक़!”

 

18. “हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे सिर्फ एक शुरुआत तो दो ।

ईद मुबारक़!”

 

19. “हर फूल आपको एक नया अरमान दे सूरज की हर किरण आपको सलाम दे निकले कभी जो एक आँसू भी आपका, तो खुदा आपको उससे दोगुनी मुस्कान दे ।

ईद मुबारक़!”

 

20. “रात को नया चाँद मुबारक चाँद को चाँदनी मुबारक फलक को सितारे मुबारक सितारौं को बुलंदी मुबारक और आपको ।

ईद मुबारक”!”

 

21. “खिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो ना कोई गम हो ना कोई बेबसी हो सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो ।

ईद मुबारक!”

 

22. “हँसी आपकी कोई चुरा ना पाये कभी कोई आपको रुला ना पाये खुशियों के ऐसे दीप जले ज़िंदगी में कि कोई तूफ़ान भी उसे बुझा ना पाये ।

ईद मुबारक!”

 

23. “ये खूबसूरत फ़िज़ाओं में फूलों की खुशबू हो सुबह की किरण में पंछियों की आवाज़ हो जब भी खोलो अपनी ये निगाहें उन निगाहों में सिर्फ खुशियों की झलक हो ।

ईद मुबारक!”

 

24. “चुपके से चाँद की रोशनी छू जाये आपको धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से हम दुआ करते हैं, वो मिल जाये आपको ।

ईद मुबारक!”

 

25. “ईश्वर वह नहीं देता जो आपको अच्छा लगता है, ईश्वर वह देता है जो आपके लिए अच्छा होता है ।

ईद मुबारक!”

 

26. “वक़्त और समझ किस्मत वालों को ही मिलता है। क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता ।

ईद मुबारक!”

 

27. “रिश्तों की बगिया में एक रिश्ता नीम के पेड़ जैसा भी रखना जो सीख भले ही कड़वी देता हो पर तकलीफ में मरहम भी बनता है ।

ईद मुबार

 

28. “जैसे चाँद का काम है, रात में रौशनी देना तारों का काम है, बस चमकते रहना दिल का काम है, अपनों की याद में धड़कते रहना वैसे हमारा है, काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना ।

ईद मुबारक!”

 

29. “गुलशन में भँवरों का फेरा हो गया, पूरब में सूरज का डेरा हो गया, खिलती मुस्कान के साथ खोलो आँखें, देखो एक बार फिर से नया सवेरा हो गया ।

ईद मुबारक!”

 

30. “गलती कबूल करने और गुनाह छोड़ने में कभी देर ना करें क्योंकि सफर जितना लम्बा होगा वापसी उतनी मुश्किल होगी ।

ईद मुबारक!”

 

31. “हर दिन अच्छा नहीं हो सकता लेकिन हर दिन में कुछ अच्छा ज़रूर होता है ।

ईद मुबारक!”

 

32. “दो पल की ज़िन्दगी है इसे जीने के सिर्फ दो असूल बना लो, रहो तो फूलों की तरह और बिखरो तो खुशबू की तरह ।

ईद मुबारक!”

 

33. “आज खुदा की हम पर हो मेहरबानी करदे माफ़ हम लोगो की सारी नाफ़रमानी ईद का दिन आज आओ मिलकर करें यही वादा खुदा की ही राहों में हम चलेंगे सदा यही है, हमारा वादा ।

ईद मुबारक!”

 

34. “उदासियों की वजह तो बहुत है, जिंदगी में पर बेवजह खुश रहने का मज़ा ही कुछ और है। इसलिए हमेशा खुश रहो।

ईद मुबारक!”

 

35. “दुआ कभी खाली नही जाती, बस लोग इन्तजार नही करते ।

ईद मुबारक!”

 

36. “ऐ चाँद उनको मेरा पैग़ाम कहना ख़ुशी का दिन हँसी की शाम कहना जब वो देखें तुम्हें आकर बाहर उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक़ कहना ।”

 

37. “खिलते फूल जैसे लबों पर हंसी हो ना कोई गम हो ना कोई बेबसी हो सलामत रहे ज़िंदगी का यह सफ़र जहाँ आप रहो वहाँ बस ख़ुशी ही ख़ुशी हो।

ईद मुबारक!”

 

38. “सदा हँसते रहो जैसे हँसते हैं, फूल दुनिया के सारे गम तुम्हें जायें भूल चारो तरफ फैलाओ खुशियों के गीत इसी उम्मीद के साथ यार तुम्हें मुबारक हो ईद ।

ईद मुबारक!”

 

39. “सदा हँसते रहो जैसे हँसते हैं, फूल दुनिया के सारे गम तुम्हें जायें भूल चारों तरफ फ़ैलाओ खुशियों के गीत इसी उम्मीद के साथ तुम्हें मुबारक हो ईद ।

ईद मुबारक!”

 

40. “ईद आई है, सब लोग कहते हैं, तुम जो आ जाओ, तो मुझे यकीन आये!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*